Top 10 Adventures trips in India भारत में टॉप 10 एडवेंचर्स ट्रिप्स

जीवन तो अपने आप में एक एडवेंचर है और यहाँ हमें हर पल एक नये मोड़ से गुजरना पड़ता है। लेकिन क्या हो की यदि हम वास्तव में किसी ऐसी यात्रा पर निकल पड़े जिसमें पहाड़ी रास्ते हों, चुनौतियों से भरी नदियों की धाराओं को पार करना हो, जंगली जानवरों के बीच से गुजरना हो और समुन्दर में होते लगाना हो ?

जीवन में ऐसे अनुभव कम से कम एक बार तो करने ही चाहिये। भारत तो ऐसे स्थानों से भरा पड़ा है जहाँ यह सब अनुभव लिये जा सकते हैं । तो आइये जानते हैं भारत में टॉप 10 एडवेंचर्स ट्रिप्स के बारे में।

1. ऋषिकेश में व्हाइट वॉटर राफ्टिंग – उत्तराखण्ड 

White water rafting in Rishikesh
White water rafting in Rishikesh Image source: Tour My India

जब भी मन में राफ्टिंग का विचार आता है तो ऋषिकेश सबसे पहले नज़र आता है। ऋषिकेश भारत में रिवर राफ्टिंग की राजधानी है। यहाँ तेज़ गति से बहती पवित्र गंगा नदी ग्रेड 1 से 5 की गति प्रदान करती है। ऋषिकेश में रिवर राफ्टिंग एक कभी न भूलने वाला अनुभव हो सकता है। तेज़ी से बहती गंगा नदी के पानी से टकराना किसी एडवेंचर से कम नहीं। यहाँ तक की कई बार तो आप राफ्ट से गिर भी जाते हैं।

(यह भी पढ़ें – हरिद्वार – ऋषिकेश यात्रा)

राफ्टिंग से पहले यहाँ पेशेवर राफ्टरों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। इस नदी पर राफ्टिंग करते हुए आप हरे-भरे शिवालिक पर्वत के शानदार दृश्य का आनंद ले सकते हैं।

राफ्टिंग के स्थान: ऋषिकेश में रिवर राफ्टिंग के लिए अलग-अलग स्थान हैं।
ब्रह्मपुरी से NIM बीच (9 किलोमीटर),
ब्रह्मपुरी से ऋषिकेश (12 किलोमीटर),
शिवपुरी से ऋषिकेश (16 किमी),
मरीन ड्राइव से ऋषिकेश (24 किलोमीटर)
कौड़ियाला से ऋषिकेश (34 किमी)

सर्वोत्तम समय: मानसून को छोड़कर, फरवरी से नवंबर के बीच महीनों में रिवर राफ्टिंग के लिए जा सकते हैं।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: हरिद्वार
नज़दीकी बस अड्डा: ऋषिकेश
नज़दीकी हवाई अड्डा: देहरादून

 

2. लद्दाख में चादर ट्रेक – जम्मू और कश्मीर

Chadar Trek
Chadar Trek Image source: Uni Crystal Holidays

विभिन्न चुनौतियों का सामना करते हुए जमी हुई नदी के ऊपर चलने के बारे में सोचना भी मन को रोमांच से भर देता है। लद्दाख में चादर ट्रेक एक रोमांचक अनुभव हो सकता है। यह ट्रेक जनवरी और फरवरी में जमी हुई ज़ांस्कर नदी पर किया जाता है। शून्य से नीचे तापमान के बीच जमी हुई नदी पर गिरते – पड़ते चलना बहुत रोमांचकारी होता है।

स्थान: ज़ांस्कर नदी, लद्दाख
कठिनाई का स्तर: मुश्किल और ऊंचाई 11,123 फीट तक।

सर्वोत्तम समय: जनवरी से फ़रवरी।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: चंडीगढ़ / शिमला
नज़दीकी बस अड्डा: लेह
नज़दीकी हवाई अड्डा: लेह

 

3. जिम कॉर्बेट सफारी – उत्तराखण्ड

Jim Corbett Safar
Jim Corbett Safar Image source: Google Image

यदि आप खूंखार जंगली जानवरों को करीब से देखना चाहते हैं और उनके बीच सफर करना चाहते हैं तो जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क आपका पसंदीदा ठिकाना गंतव्य हो सकता है। विभिन्न प्रकार के वन्यजीवों के लिये नैनीताल जिले में 13184 वर्ग किलोमीटर में इस अभ्यारण्य की स्थापना की गयी थी। यहाँ पर्यटक जीप सफारी द्वारा पूरे जंगल में घूम सकते हैं। यदि आप भाग्यशाली हैं तो आपका सामना रॉयल बंगाल टाइगर से भी हो सकता है। यहाँ अलग-अलग जोन हैं जैसे की ढिकाला ज़ोन, बिजरानी ज़ोन, सोनानदी ज़ोन और दुर्गा देवी ज़ोन।

सर्वोत्तम समय: अक्टूबर से जून तक का समय यहाँ घूमने के लिये सबसे अच्छा है। मानसून के दौरान यदि न ही जायें तो अच्छा है।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: चंडीगढ़ / शिमला
नज़दीकी बस अड्डा: लेह
नज़दीकी हवाई अड्डा: लेह

(यह भी पढ़ें – फर्स्ट टाइम बैक पैकर्स के लिये बेस्ट ट्रिप्स)

4. अंडमान में स्कूबा डाइविंग – अंडमान और निकोबार

Scuba Diving in Andaman
Scuba Diving in Adaman Image Source: Thrillophillia

गहरा साफ नीला पानी और विशाल समुद्री जल संसार, अंडमान को वास्तव में अन्य स्थानों से अलग बनाता है। अंडमान के समुद्री जीवन में बिताये गये कुछ दिन आपकी लाइफ में कभी न भूलने वाला अनुभव बन जायेंगे। स्कोर्पियन मछली और ऑक्टोपस से लेकर शार्क और कोरल रीफ्स, ऐसी कई चीजें हैं जिन्हें आप मिस नहीं कर सकते। अंडमान में कुछ डाइविंग साइट्स हैं – द वॉल (स्वराज द्वीप, पूर्व में हैवलॉक आइलैंड), क्लिनक आइलैंड (पोर्ट ब्लेयर) और फिश रॉक (पैसेज आइलैंड)।

सर्वोत्तम समय: जनवरी से मई तक का समय सबसे अच्छा समय माना जाता है, क्योंकि इस समय अक्सर समुद्र शांत रहता है जिससे की गोताखोरी के लिए स्थितियां बेहतर होती हैं।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: कोलकाता और उसके बाद फ्लाइट द्वारा पोर्ट ब्लेयर तक।
नज़दीकी बस अड्डा: लेह

 

5. रूपकुण्ड ट्रेक – उत्तराखण्ड

Roopkund Trek
Roopkund Trek Image source: Trek The Himalayas

यदि ट्रेकिंग आपको बहुत पसंद है तो रूपकुंड ट्रेक एक ऐसा ट्रेक है जहाँ आपको एक बार तो जाना ही चाहिये। उत्तराखण्ड के चमोली जिले में बेहद ऊंचाई पर स्थित है। यदि आपकी लाइफ में जोश खत्म सा हो गया है और सब कुछ बोरिंग सा हो रहा है तो आ जाइये रूपकुण्ड की दुनिया में। रूपकुण्ड की झील रहस्यों के लिये जानी जाती है।

15700 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित इस झील तक घने जंगलों और ऊँचे पहाड़ों से होती हुई एक लंबी यात्रा करके पहुंचा जा सकता है। इस झील के रहस्यों का कारण है यहाँ बिखरे हुए ढेर सारे कंकाल जो की सैकड़ों सालों से यूँ ही पड़े हुए हैं।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: हरिद्वार
नज़दीकी बस अड्डा: ऋषिकेश
नज़दीकी हवाई अड्डा: देहरादून

सर्वोत्तम: रूपकुण्ड जाने का सबसे अच्छा समय मानसून से ठीक पहले मई-जून के बीच होता है।

(यह भी पढ़ें – सर्दियों में उत्तराखण्ड के बर्फीले ठिकाने)

 

6. मनाली से लेह बाइक ट्रिप – हिमाचल से जम्मू कश्मीर

Leh Manali Highway
Leh Manali Highway, Image source: Mapio.net

घाटियों के पार बाइक पर सवारी करने और कभी न खत्म होने वाली सड़क और अगल – बगल बर्फ़ से ढके पहाड़ों के बारे में एक बार सोच कर देखें, मन रोमांच से भर उठेगा। इस हिमालयी क्षेत्र में एक बाइक यात्रा बहुत से खूबसूरत नज़ारों को देखने मौका देती है।

दूर – दूर तक फैली घाटियां और उनमे पसरी नीली झीलें… उनके किनारे खड़े होकर चाय पीना ! अच्छा लगता है न ? इस रास्ते की हवा में कुछ जादू सा है जो किसी को भी विस्मित कर सकता है। यह रूट दुनिया के सबसे ऊँचे रास्तों में से एक माना जाता है। मनाली से लेह के सफर में आप जिस्पा, सरचू, तंगलंग ला जैसे कुछ प्रसिद्द स्थानों से गुज़रेंगे।

सर्वोत्तम समय: जुलाई से सितंबर मनाली से लेह के लिए बाइक यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: चंडीगढ़
नज़दीकी बस अड्डा: मनाली
नज़दीकी हवाई अड्डा: भुंतर

 

7. मेघालय में गुफाओं की सैर – मेघालय

Caving in Meghalaya
Caving in Meghalaya Image source: Kipepeo

मेघालय को पूर्वोत्तर का नगीना भी कहा जा सकता है। यहाँ हैं प्रकृति के कुछ बेहतरीन खजाने जो आपको मंत्रमुग्ध कर सकते हैं जैसे की विशाल गुफाएँ, सुंदर झरने और ऊँचे पहाड़। मेघालय में गुफाओं की सैर आपकी एडवेंचर्स गतिविधियों में शामिल हो सकता है। खासी हिल्स और जयंतिया हिल्स दो सबसे लोकप्रिय पहाड़ियां हैं, जो रहस्य्मयी गुफाओं से समृद्ध हैं। इसके अलावा आप क्रेम माविक ड्रॉप, क्रेम डैम, क्रेम ल्यम्पुट और क्रेम मवजाइम्बुइन की सैर भी कर सकते हैं।

सर्वोत्तम समय: मेघालय की गुफाओं की सैर का सबसे अच्छा समय दिसंबर से मार्च के बीच का है।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: गुवाहाटी
नज़दीकी बस अड्डा: शिलोंग
नज़दीकी हवाई अड्डा: शिलोंग

(यह भी पढ़ें – (यह भी पढ़ें – एक नज़र भारत के खूबसूरत गाँवो पर, जहाँ आपको एक बार तो जाना ही चाहिए))

 

8. गुलमर्ग में स्कीइंग – जम्मू और कश्मीर

Skiing
Skiing Image source: Google Image

गुलमर्ग में स्कीइंग करना बहुत से लोगों का सपना होता है। गुलमर्ग में स्की हिल सर्विस, गोंडोला द्वारा प्रदान की जाती है। यहाँ गोंडोला ही आपको 4000 मीटर की ऊंचाई तक लेकर जाता हैं जहाँ स्की की जाती है। यह इलाका किसी स्वर्ग से कम नहीं। यदि आप एक अनुभवी स्की राइडर हैं, तो यहाँ स्की करना एक यादगार अनुभव साबित होगा।

सर्वोत्तम समय: दिसंबर से फ़रवरी।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: जम्मू तवी
नज़दीकी बस अड्डा: श्री नगर
नज़दीकी हवाई अड्डा: श्री नगर

 

9. ऋषिकेश में बंजी जंपिंग – उत्तराखण्ड

Bunjgee Jumpin
Bunjgee Jumping Image source: Google Image

83 मीटर से अधिक की ऊँचाई से कूदना और फिर हवा में कई झटके कहते हुए नीचे जाना एक बेहद रोमांचकारी अनुभव है। उन लोगों के लिए जिन्होंने बंजी जंपिंग के बारे में कभी नहीं सुना है, हम बता दें की बंजी जंपिंग में आपको कमर में रस्सी बांध कर बहुत ऊंचाई से नीचे फेंक दिया जाता है। आपको किसी भी शारीरिक चोट से बचने के लिए इस साहसिक गतिविधि को करने के लिए शारीरिक रूप से फिट होना आवश्यक है। ध्यान दें बंजी जंपिंग के लिए आपका वजन 40 किलो से 90 किलो के बीच होना चाहिये।

स्थान: बंजी जंपिंग ऋषिकेश से आगे मोहन चट्टी गांव में की जाती है

सर्वोत्तम समय: मानसून (जून से अगस्त) को छोड़ कर कभी भी।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: हरिद्वार
नज़दीकी बस अड्डा: ऋषिकेश
नज़दीकी हवाई अड्डा: देहरादून

 

10. टोंस घाटी में राफ्टिंग

Rafting in Tons
Rafting in Tons Image source: Ravers Expeditions

उत्तराखण्ड में स्थित टोंस नदी यमुना नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है। यहाँ आप रिवर राफ्टिंग के अलावा अन्य साहसिक खेलों का भी आनंद ले सकते हैं। टोन नदी में राफ्टिंग के दौरान, आप कुछ प्रसिद्ध रैपिड्स जैसे वन द हॉर्न्स ऑफ़ द टन, टोन्स स्क्वीज़, कॉनफ्लुएंस, ट्यूनी बाज़ार का आनंद ले सकते हैं।

सर्वोत्तम समय: मानसून (जून से अगस्त) को छोड़ कर कभी भी।

नज़दीकी रेलवे स्टेशन: देहरादून
नज़दीकी बस अड्डा: देहरादून
नज़दीकी हवाई अड्डा: देहरादून

(यह भी पढ़ें – सांकरी यात्रा)

यह सीरीज़ अभी जारी रहेगी…

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of