Nirmal Purja Image source: https://www.instagram.com/nimsdai/

Nirmal Purja – who climbed the world’s 14 highest peaks in just 6 months

एक प्रसिद्ध कहावत है – ‘जहाँ चाह, वहाँ राह’, लेकिन हम जानते हैं की दुनिया में कम ही लोग ऐसे हैं जिन्होंने इस कहावत का सिद्ध भी कर पाते हैं। खैर, निर्मल पुरजा वो वीर है जिसने यह कर के भी दिखा दिया। नेपाल के इस पूर्व गोरखा सैनिक ने दुनिया को दिखा दिया कि अगर कोई ठान ले तो कुछ भी असंभव नहीं है। इस पर्वतारोही ने रिकॉर्ड समय (केवल 6 महीने) में दुनिया की सबसे ऊंची 14 चोटियों पर विजय हासिल की।

कौन है निर्मल पुरजा ? Who is Nirmal Purja

Nirmal Purja
Nirmal Purja Image source: https://www.instagram.com/nimsdai/

एक नेपाली पर्वतारोही और ब्रिटेन की स्पेशल बोट सर्विसेज़ के पूर्व सैनिक, निर्मल पुर्जा ने दुनिया की 14 सबसे ऊँची चोटियों (8000 मीटर से ऊपर और जिन्हें ‘Eight-Thousanders’ के रूप में भी जाना जाता है) को छह महीने और छः दिन के रिकॉर्ड समय में छूकर एक नया रिकॉर्ड बनाया। ऐसा करके उन्होंने मात्र 8 वर्ष से भी कम समय में इस तरह के पिछले रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया। इससे पहले, यह रिकॉर्ड एक पोलिश पर्वतारोही जेरज़ी कुकुज़्का के नाम था, जिन्होंने 7 साल, 11 महीने और 14 दिन में इन 14 शिखरों पर चढ़ाई पूरी की। यह रिकॉर्ड वर्ष 1987 में बना था।

पुरजा ने अपनी उपलब्धि की घोषणा अपने विभिन्न सोशल मीडिया एकाउंट्स पर एक पोस्ट के माध्यम से की। अपने फेसबुक पोस्ट में, उन्होंने लिखा: “MISSION ACHIEVED!” और उन्होंने जो तस्वीर पोस्ट की वह तिब्बत के एक पर्वत शीशपंगमा के शिखर से ली गयी थी।

Nirmal Purja Gasherbrum - II
Nirmal Purja Gasherbrum – II Image source: https://www.instagram.com/nimsdai/

दिल में पहाड़ों को छूने की इच्छा पालने वाले पुरजा ने अपने सपने को पूरा करने के लिये ब्रिटेन की स्पेशल बोट सर्विसेज़ की अपनी नौकरी छोड़ दी और अपने इस अभियान का आरम्भ किया जिसे उन्होंने ‘Project Possible’ नाम दिया।

‘Project Possible’ का आरम्भ

पुरजा ने 23 अप्रैल, 2019 को नेपाल में अपना अभियान शुरू किया और 24 मई, 2019 को पहले छः पर्वत शिखरों का अभियान पूरा किया। इसमें अन्नपूर्णा, धौलागिरी, कंचनजंगा, माउंट एवरेस्ट, ल्होत्से और मकालू शामिल थे। वास्तव में, आखिरी पांच चोटियां केवल 12 दिनों में ही फतह कर ली गयी थी। इतना ही नहीं, इस अभियान के दौरान पुर्जा ने मात्र 2 दिन और 30 मिनट में ही माउंट एवरेस्ट, ल्होत्से और मकालू पर चढ़ाई करके अपना खुद का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया।

जुलाई 2019 में पूरे होने वाले अपने दूसरे चरण में, पुरजा ने नंगा परबत, गशेरब्रुम 1, गशेरब्रम 2, K 2 और ब्रॉड पीक (सभी पाकिस्तान में) पर चढ़ाई की।

उनका तीसरा और अंतिम चरण सितंबर 2019 में शुरू हुआ, जिसमें उन्होंने चीन में चो ओयू और नेपाल में मनासु पर चढ़ाई की। फिर अक्टूबर के महीने में उन्हें चीनी अधिकारियों से शीशपंगमा पर चढ़ाई करने की अनुमति लेनी पड़ी और उन्होंने अक्टूबर 2019 में अपनी परियोजना को सफलतापूर्वक पूरा किया।

निर्मल पुर्जा ने न केवल अपना लक्ष्य हासिल किया, अपितु वे चार अन्य पर्वतारोहियों को बचाने में भी कामयाब रहे और कुछ ही समय में दुनिया भर का ध्यान स्वयं की ओर आकर्षित किया।

Image source: https://www.instagram.com/nimsdai/

वर्ष 2019 में निर्मल पुर्जा द्वारा फतह की गयी 14 चोटियों पर एक नज़र:

  1. अन्नपूर्णा, नेपाल (23 अप्रैल)
  2. धौलागिरी, नेपाल (12 मई)
  3. कंचनजंगा, नेपाल (15 मई)
  4. एवरेस्ट, नेपाल (22 मई)
  5. ल्होत्से, नेपाल (22 मई)
  6. मकालू, नेपाल (24 मई)
  7. नंगा परबत, पाकिस्तान (3 जुलाई)
  8. गशेरब्रुम 1, पाकिस्तान (15 जुलाई)
  9. गशेरब्रुम 2, पाकिस्तान (18 जुलाई)
  10. K2, पाकिस्तान (24 जुलाई)
  11. ब्रॉड पीक, पाकिस्तान (26 जुलाई)
  12. चो ओयू, चीन (23 सितंबर)
  13. मनासलू, नेपाल (27 सितंबर)
  14. शीशपंगमा, चीन (29 अक्टूबर)

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of